पुस्तकालय और सूचना विज्ञान विभाग के बारे में

पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग, गुरु घासीदास विश्वविद्यालय की आधारशिला 27 सितम्बर 1985 को विश्वविद्यालय की कला अध्यनशाला के अंतर्गत रखी गयी । यह विभाग न केवल इस विश्वविद्यालय, अपितु इस क्षेत्र मे अवस्थित प्राचीनतम विभागों मे से एक है तथा व्यापक छात्र समूह को आधुनिक ज्ञान एवं दक्षता से सशक्त करने की दिशा में कार्यरत है | प्रारम्भ मे सीमित संसाधनो के साथ शुरुआत करते हुये विभाग ने कालान्तर में विभिन्न आयामों में बहुप्रत्याशित प्रगति की है| हमारा उद्देश्य विद्यार्थियों को स्नेहशील वातावरण मे शिक्षा प्रदान करना है, जहां विद्यार्थीयो को न केवल अध्ययन के लिए, अपितु अपने साथियों और समाज की उन्नति के लिए कार्य करने के लिए भी प्रेरित किया जाता है| नवीनतम पाठ्यक्रम, प्रासंगिक वैज्ञानिक साहित्य के व्यापक संग्रह से लैस कार्यात्मक पुस्तकालय, और पूरी तरह से सुसज्जित संगणक प्रयोगशाला विभाग की प्रमुख शक्तियों में से है | हमने एक ऐसा परिवेश विकसित किया है जहां विद्यार्थियों के संचार कौशल के विकास के साथ ही विभिन्न संगोष्ठियों में भाग लेने के लिए उनको प्रोत्साहित किया जाता है, जिससे वे साथी सदस्यों के साथ अपने विचारों और अनुभवों को साझा कर सकें| अत्यंत प्रेरित शिक्षको के समर्पण एवं मार्गदर्शन के माध्यम से विद्यार्थियों को अपने कार्यक्षेत्र में एक प्रेरणा व प्रतिरूप के रूप में प्रस्तुत करना विभाग का लक्ष्य है

"Science Sensitization among commons : An Academic Public Library Venture of Chhattisgarh" पर नेशनल संगोष्ठी

Blog

हमारी परिकल्पना

एक उत्प्रेरक के रूप मे पुस्तकालय एवं सूचना संस्थानो के स्थानीय एवं वैश्विक स्तर पर विकास तथा भूमिका परिवर्तन के लिए निरंतर प्रयास करते रहना | समृद्ध संसाधनो के उपयोग एवं शिक्षण, छात्रवृत्ति, और सेवा में उत्कृष्टता के माध्यम से अपने क्षेत्र और उसके परे मानवता की भलाई के लिए पूरी निष्ठा से कार्य करना

हमारा लक्ष्य

हमारा लक्ष्य ऐसे सूचना पेशेवरों और उन्हे शिक्षित करना है, जो जीने, कार्य करने, और परिवर्तनशील समाज मे रहने के लिए शिक्षण, अनुसंधान और रचनात्मक गतिविधि एवं लोक सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्टता के माध्यम से सूचना के उत्पादों का उपभोग करते है| विभाग व्यक्ति, समुदाय और समाज की बेहतरी की दिशा में पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान के सिद्धांतों और तरीकों को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है।

हमारा उद्देश्य विद्यार्थियों को ऐसी गुणवत्तापुरवर्क शिक्षा प्रदान करना जिससे वह कहीं भी रहे, उसकी जरूरतें पूरी हो सकें| साथ ही उन्हे उच्च गुणवत्ता वाले निर्देश प्रदान करना है जो उनके भविष्य मे सभी व्यक्तिगत आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए उपयुक्त हों | सभी विद्यार्थियो मे विश्वास जगाना की उनकी शैक्षिक अनुभव प्रासंगिक एवं दूरंदेशी है , इसके साथ ही जीवन वृत्ती की योजना तथा स्थान नियोजन के लिए विचारशील सलाह भी दी जाती है

हमारे उद्देश्य

o छात्रों को बिना भेदभाव के उनकी आवश्यकता अनुरूप गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना । o विभिन्न नवीन तकनीकों के उपयोग द्वारा प्रभावशाली शिक्षण, विद्वता को प्रोत्साहित करना एवं व्यावसायिक कार्यो का उन्नयन o बेहद सक्षम, नैतिक पुस्तकालयाध्यक्षों और अन्य सूचना - पेशेवरों को शिक्षित करना । o पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान में ज्ञान और अभ्यास की सीमाओं को आगे बढ़ाना । o कार्यक्षेत्र, समुदाय, प्रान्त और विश्व की सूचना संचार के माध्यम से सेवा करना । o सुचना के संगठन, प्रबंधन, प्रसार व संरक्षण के लिए कुशल मानव शक्ति सृजन करना। o सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग और सूचना प्रबंधन को सुविधाजनक बनाने में सूचना प्रौद्योगिकी की भूमिका को स्पष्ट रूप से आत्मसात करना ।

हमारी विशेषज्ञता/ विशिष्टता

o ज्ञान का संगठन, वेबोमेट्रिक्स, सूचना पुर्न्प्राप्ति, मुक्त विष्यवस्तु मूल्यांकन, ज्ञान प्रबंधन, सूचना का उपयोग और सेवा। सूचना खोज का व्यवहार, डिजिटल लाइब्रेरी इत्यादि|

छात्र संवर्धन कार्यक्रम

o यूजीसी-नेट के लिए नियमित रूप से कोचिंग। o उपयोगी वेबसाइटों एवं नए घटनक्रमो के बारे मे समय-समय पर विद्यार्थियों को सूचित एवं जागरुक करने की सेवा| o विभिन्न प्रकार के डेटाबेस जैसे Emerald Journals, EBSCO, Science Direct, Indian Citation Index (एमराल्ड पत्रिकाएँ, एब्स्को, साइंस डाइरेक्ट, भारतीय प्रशस्तिपत्र सूचकांक) आदि तक पहुचने एवं उपयोग करना सिखाना| o विद्यार्थियों के विषय कौसल को उत्तकृष्ट बनाने के लिए सेमिनार एवं समाधानात्मक शिक्षण का आयोजन करना| o जरूरतमंद छात्रों के लिए साप्ताहिक अंग्रेजी कोचिंग कक्षाओं का संचालन। o विद्यार्थियों की सुविधा के लिए शैक्षणिक कार्य से संबन्धित चर्चा या समाधान के लिए 24X7 शिक्षकों से संपर्क की सुविधा।

अन्य लिंक

क्र.सं.शीर्षकअपलोड की तारीखफाइल
1 नैक : मानदंड -II 2.1.2 (2016-17) आरक्षित वर्ग से प्रवेश लेने वाले छात्र 28-06-2022
2 नैक : मानदंड -II 2.1.2 (2017-18) आरक्षित वर्ग से प्रवेश लेने वाले छात्र 28-06-2022
3 नैक : मानदंड -II 2.1.2 (2018-19) आरक्षित वर्ग से प्रवेश लेने वाले छात्र 28-06-2022
4 नैक : मानदंड -II 2.1.2 (2019-20) आरक्षित वर्ग से प्रवेश लेने वाले छात्र 28-06-2022
5 नैक : मानदंड -II 2.1.2 (2020-21) आरक्षित वर्ग से प्रवेश लेने वाले छात्र 28-06-2022
6 नैक : मानदंड -II 2 .4.2 पीएचडी डिग्री 28-06-2022
7 मानदंड: वी - 5.1.1 28-06-2022
8 मानदंड: 5.2.1 28-06-2022
9 नैक : मानदंड-I 1.1.2 (2018-19) बी.एलआईबी.आई.एससी पाठ्यक्रम जो संशोधित हैं 23-06-2022
10 नैक : मानदंड-I 1.1.2 (2018-19) एम.एलआईबी.आई.एससी पाठ्यक्रम जो संशोधित हैं 23-06-2022
11 नैक : मानदंड-I 1.1.2 (2018-19) पीएचडी पाठ्यक्रम जो संशोधित हैं 23-06-2022
12 नैक : मानदंड-I 1.1.3 (2016-17) रोजगार योग्यता, उद्यमिता, कौशल विकास वाले पाठ्यक्रम 23-06-2022
13 नैक : मानदंड-I 1.1.3 (2017-18) रोजगार योग्यता, उद्यमिता, कौशल विकास वाले पाठ्यक्रम 23-06-2022
14 नैक : मानदंड-I 1.1.3 (2018-19) रोजगार योग्यता, उद्यमिता, कौशल विकास वाले पाठ्यक्रम 23-06-2022
15 नैक : मानदंड-I 1.1.3 (2019-20) रोजगार योग्यता, उद्यमिता, कौशल विकास वाले पाठ्यक्रम 23-06-2022
16 नैक : मानदंड-I 1.1.3 (2020-21) रोजगार योग्यता, उद्यमिता, कौशल विकास वाले पाठ्यक्रम 23-06-2022
17 नैक: मानदंड-I 1.2.1 बी.लिब. I.Sc (2018-19) नए पाठ्यक्रम शुरू किए गए 23-06-2022
18 नैक : मानदंड-I 1.2.1 (2018-19) एम.एलआईबी.आई.एससी, नए पाठ्यक्रम शुरू किए गए 23-06-2022
19 नैक : मानदंड-I 1.2.2 (2018-19) बी.एलआईबी.आई.एससी. सीबीसीएस लागू किया गया है 23-06-2022
20 नैक : मानदंड-I 1.2.2 (2018-19) एम.एलआईबी.आई.एससी. सीबीसीएस लागू किया गया है 23-06-2022
21 नैक: मानदंड- I 1.2.2 (2018-19) पीएचडी, सीबीसीएस लागू किया गया है 23-06-2022